1 अप्रैल का इतिहास अप्रैल फूल क्यों मनाया जाता है !

0
170
1 अप्रैल का इतिहास
1 अप्रैल का इतिहास अप्रैल फूल क्यों मनाया जाता है

नमस्कार जैसा की आप सभी जानते है कल 1 अप्रैल है और कल सब एक दुसरे को उल्लू बनाने के नए नए पैतरे आजमाएंगे लेकिन मेरे दिमाग में हमेशा एक सवाल रहा है बचपन  से की 1 अप्रैल का इतिहास क्या है और यह अप्रैल फूल क्यों मनाया जाता है तो इसकी पता करने के लिए मैंने इस पर रिसर्च की और मैंने कई फैक्ट्स पे कोई भी इस मर एक मत नही था की यह क्यों मनाया जाता है !

1 अप्रैल का इतिहास
1 अप्रैल का इतिहास अप्रैल फूल क्यों मनाया जाता है

और आपको सायद न पता हो की अप्रैल फूल सिर्फ भारत में नहीं कई देशो में मनाया जाता है लेकिन कोई भी देश इसकी छुट्टी नही देता है 1 अप्रैल के दिन सभी एक दुसरे के साथ मजाक करते है कुछ लोग तो इसे बड़े ही शानदार तरीके से मानते है मुझे याद है जब में स्कूल में पढता था मैंने अपने एक टीचर के साथ एक मजाक किया था में आपको भी वह तरीका बताता हु !

मैंने यह किया था की में कई साइज़ के बहुत सरे बॉक्स ले आया था हर बॉक्स दुसरे बॉक्स से छोटा था हर बड़े बॉक्स के अन्दर छोटे वालीं बॉक्स को रखता गया एक एक करके जिससे वह बॉक्स पूरी तरह बॉक्स से भर गया और उसके अन्दर बहुत से बॉक्स आ गए अब उसके बाद मैंने उसे अपने टीचर को दिया और मैंने बोला सर आपके लिए गिफ्ट सर ने पहला बॉक्स खोला उसके अन्दर एक बॉक्स और निकला फिर दूसरा खोला उसके अन्दर एक और बॉक्स निकला ऐसा करते करते कई बॉक्स निकले और लास्ट में उसके अन्दर कागज के कुछ टुकड़े निकले और फिर समझ गए की उनको  अप्रैल फूल बना दिया गया है !

 अप्रैल फूल क्यों मनाया जाता है !

वैसे तो इस मानाने के पीछे बहुत मिथ्या है कोई कुछ बताता है और कोई कुछ लेकिन उनमे से मुझे जो सबसे सही लगा वह यह है की प्राचीन काल में रोम में एक त्यौहार मनाया जाता था जिसे हिलेरिया कहते थे इस त्यौहार में देवता अत्तिस को पूजा जाता है इस त्यौहार में लोग अजीब कपडे पहन कर साथ में चहरे पे मास्क लगाकर एक दुसरे से मजाक करते है इस त्यौहार में होने वालें इन्ही कारणों के कारण इसे अप्रैल फूल या मुर्ख दिवस से जोड़ दिया गया !

दोस्तों अंत में आपसे यही कहुगा की आप सभी इस त्यौहार को मनाये और सभी एक दुसरे से हसी मजाक करें लेकिन कभी भी कोई ऐसा मजाक न करें जिससे की किसी को किसी भी तरह का नुक्सान हो मुझे एक घटना याद है मैंने एक विडियो देखि थी यह इन्टरनेट में खूब वायरल हो रही थी उस समय होता यह की हुसबंद अपनी वाइफ को अप्रैल फूल बनाने के लिए एक डरावना मास्क पहन कर दरवाजे के पीछे चुप जाता है !

जैसे ही उसकी पत्नी घर के अन्दर आती है वह अचानक से उसके सामने आता है और वह बहुत ज्यादा डर जाती है और वह जल्दी से घर के बहार की और भागती है और वह जैसे ही घर के बहार निकलती है उसे कार से टक्कर पड़ती और वह एक्सीडेंट हो जाता है तो आपने देखा एक छोटे से मजाक के चक्कर में कितना बड़ा हादसा होता है !

अप्रैल फूल क्यों नही मनाना  चाहिए ?

अब आप सोच रहे होंगे की मैं ऊपर अप्रैल फूल बनाने के तरीके बता रहा हु और निचे यहाँ खुद बता रहा हु की अप्रैल फूल क्यों नही मनाना चाहिए जी हा दोस्तों में इस त्यौहार को न मनाने की ही सलाह दुगा क्योकि हमें कभी झूट नहीं बोलना चाहिए और किसी का मजाक भी नहीं बनाना चाहिए कई बार हम मजाक बनाने के चक्कर  में सामने वालें का अपमान कर देते है और हमें पता भी नहीं होता है !

और उसकी वजह से आपके और उसके बीच के रिश्ते में दरार पद जाती है और रिश्ते टूट जाते है इसलिए मेरी सलाह है की हमें अप्रैल फूल डे नही सेलिब्रेट करना चाहिए यह हमें झूट बोलना सिखाता है लेकिन आगे आपकी मर्जी आपकी लाइफ आपके रूल्स और बस ऐसे अप्रैल फूल मनाइए जिससे किसी अपने का दिल न टूटे धन्यवाद !

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here